हर महिला को जाननी चाहिए माइग्रेन से जुड़ी ये 5 बातें



साइंस की बात करें तो आज के वर्तमान समय में बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं जो माइग्रेन की समस्या से ग्रसित हैं। एक ताज़ा रिपोट के अनुसार पूरी दुनिया में 36 फीसदी महिलाएं माइग्रेन की शिकार हैं और इसका तादाद धीरे धीरे बढ़ रहा हैं। आज इसी संदर्भ में मेडिकल साइंस के एक अध्ययन के अनुसार जानने की कोशिश करेंगे माइग्रेन से जुड़ी उन बातों के बारे में जिन बातों के बारे में हर महिला को पता होनी चाहिए। ताकि उसे भविष्य में किसी भी परेशानी का सामना करना ना पड़ें। तो आइये जानते हैं विस्तार से की हर महिला को जाननी चाहिए माइग्रेन से जुड़ी ये 5 बातें।

1 .मेडिकल साइंस के एक अध्ययन के अनुसार महिलाओं के ब्रेन में केमिकल बदलाव के कारण माइग्रेन की समस्या उत्पन होती हैं। इस समय की बजह से महिलाओं के ब्रेन में पाए जाने वाले स्पेसिफिक न्यूरो ट्रांसमीटर चेंज हो जाता हैं जिससे महिलाओं को तेज़ सिर दर्द का सामना करना पड़ता हैं। इतना हीं नहीं माइग्रेन की समस्या के कारण महिलाओं की शारीरिक और मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं रहती हैं। इसलिए हर महिला को इसके बारे में जाननी चाहिए। ताकि उसे भविष्य में कोई बड़ी समस्या का सामना करना ना पड़ें।

2 .माइग्रेन की समस्या के कारण महिलाओं को कभी कभी सूर्य की कारणों के परिवर्तन होने जैसी तेज़ चमक दिखाई देती हैं और उनके दिमाग का एक हिस्सा सुन्न महसूस करता हैं। मेडिकल साइंस के अनुसार ये समस्या महिलाओं के लिए कभी कभी बहुत खतरनाक साबित होती हैं। इसलिए महिलाओं को इसके बारे में जाननी चाहिए और उन्हें जब इस तरह की कोई समस्या दिखाई दे तो उन्हें तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए ताकि इस समस्या से छुटकारा मिल सके।

3 .मेडिकल साइंस के अनुसार वैसी महिलाएं जिन्हे पीरियड्स की समस्या होती हैं तथा जिनका पीरियड्स समय पर नहीं होता हैं। उन महिलाओं को माइग्रेन की समस्या हो सकती हैं। क्यों की पीरियड्स के दौरान हार्मोन्स में उतार चढ़ाव आने से महिलाओं के ब्रेन में स्ट्रेस आ जाता हैं और धीरे धीरे ये समस्या माइग्रेन का रूप ले लेती हैं। इसलिए हर महिला को इसके बारे में सही जानकारी होनी चाहिए और उसे ब्रेन में किसी भी प्रकार की परेशानी दिखे तो उसे डॉक्टर से संपर्क करनी चाहिए।

4 .माइग्रेन की समस्या ज्यादा तर जेनेटिक संरचना के कारण होता हैं। इस दुनिया में करीब 50 फीसदी महिलाएं जेनेटिक संरचना के कारण हीं माइग्रेन का शिकार हुयी हैं। इसलिए अगर किसी इंसान के माता पिता या उनके परिवार का कोई मेंबर माइग्रेन की समस्या से कभी पीड़ित था तो उनके बच्चे को माइग्रेन की समस्या हो सकती हैं। इसलिए समय समय पर शरीर की जांच कराते रहें ताकि भविष्य में इस समस्या का सामना करना ना पड़ें।

5 .डॉक्टरों की बात मानें तो माइग्रेन की समस्या उन महिलाओं को ज्यादा होती हैं जो तनाव और डिप्रेशन की समस्या से ग्रसित होते हैं तथा जो सही नींद नहीं ले पाती हैं। उन महिलाओं को माइग्रेन की समस्या हो सकती हैं। लेकिन इस माइग्रेन की समस्या से महिलाओं को डरना नहीं चाहिए और इसका सामना करना चाहिए। क्यों की इस आज के वर्तमान समय में इस माइग्रेन की समस्या को बड़े आसानी से ठीक किया जा रहा हैं।
Previous
Next Post »